नल वाले ने सारी दोपहर मुझे इतना चोदा की मेरी जिन्दगी रंगीन हो गयी – sexy story

हेल्लो दोस्तों, मैं सपना वर्मा आप सभी का antarvasnax.net में बहुत बहुत स्वागत करती हूँ। मैं एक शादी शुदा औरत हूँ। मैं हाउस वाइफ हूँ और सारा दिन घर पर ही रहती हूँ। मैं खाली समय में सेक्स विडियो देखना और नई नई चुदाई कहानियां पढना पसंद करती हूँ। मेरी एक सहेली ने मुझे नॉन वेज स्टोरी के बारे में बताया था, तब से मैं रोज यहाँ की मस्त स्टोरीज पढ़ती हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रही हूँ। मैं उम्मीद करती हूँ कि यह कहानी सभी लोगों को जरुर पसंद आएगी। ये मेरी जिन्दगी में घटी एक सच्ची घटना है। desi sex story

दोस्तों मेरी जिन्दगी बड़ी बेरंग थी। मेरी शादी घर वालों ने मुंबई में कर दी। मेरे पति एक बड़े डॉक्टर थे। सुहागरात पर मेरे पति ने मुझे सारी रात नंगा ही रखा और दिल खोलकर मेरी चूत मारी। मेरे डॉक्टर पति मुझसे बहुत प्यार करते थे। शादी के २ साल तक मेरे पति ने मुझे बहुत चोदा। मेरा बहुत ख्याल रखते थे। अपनी क्लिनिक से मुझे हर २ घंटे में फोन करके पूछते रहते थे की मैं क्या कर रही हूँ। मुझे हर दूसरे दिन बाहर महंगे महंगे होटलों में डिन्नर कराने ले जाते थे और मुझे बहुत प्यार करते थे, हर तरह से खुश रखते थे। पुरे २ सालों तक मेरे पति ने रोज मुझे रात में बिस्तर पर नंगे करके जमकर मेरी चूत मारी और भरपूर मजा दिया। पर तीसरे साल के अंत तक मेरे बच्चा हो गया और चौथे साल फिर से बच्चा हो गया।  sexy story 

मेरा बदन अब पहले ही तरह कसा हुआ नही था, २ २ डिलीवरी के बाद मेरे पेट में स्ट्रेच मार्क्स पड़ गये और और मेरे बच्चे रोज मेरा दूध पीते थे, जिस वजह से मेरी मस्त मस्त चूचियां अब पहली की तरह इतनी कसी और सुंदर नही थी। इसके साथ ही मेरी आँखों के नीचे काले गड्डे भी पड़ गये और मैं पहली जितनी सुंदर नही थी। मेरी खूबसूरती कम होने के कारण धीरे धीरे मेरे डॉक्टर पति का मुझमे इंटरेस्ट कम हो गया था। मेरी चूत में से २ २ बार बच्चे निकल चुके थे। इसलिए अब मेरी चूत ढीली हो गयी थी और अब तो मेरे पति ने मेरी चूत मारना भी बंद कर दिया। धीरे धीरे मैं अंदर ही अंदर कुंठित रहने लगी।

“दिनेश (मेरे पति) …कितने दिन से हमने सेक्स नही किया है…..चलो आज करते है” एक दिन मैंने अपने पति से कहा

“सपना, तुमको देख के अब मेरा लंड खड़ा नही होता है..” मेरे पति बोले

“क्या……???” मैं चिल्लाई

ये सुनकर मुझे बहुत दुःख पंहुचा था। क्या बच्चों को पैदा करने के बाद अब मेरे पति मुझसे प्यार भी नही कर सकते। मैं अपने पति को तरह तरह की गालियाँ बकना शूरू कर दी। पर मुझे देखकर अब उनको कोई जोश नही चढ़ता था। अब वो मेरी चूत में जरा भी इंटरेस्टेड नही थे। ये बात सुनने के बाद तो मेरा जान देने का दिल कर रहा था। कुछ दिन बाद पता चला की मेरे डॉक्टर पति का अपनी क्लीनिक की नर्स के साथ अफेयर चल रहा है। वो अभी सिर्फ २० साल की जवान माल थी, कुवारी थी, सुंदर थी। मेरे पति उसे दिन में अपने क्लिनिक में ही चोद लेते थे और शाम को आकर बस मेरे पास आकर साथ में लेट जाते थे। कुछ करते नही थे। जब उनको इतनी मस्त मस्त माल चोदने को मिल sexy story  रही थी तो मेरी जैसी ढीली चूत वो क्यों चोदते।

लगातार २ घंटे तक किसी बी सेक्सी लड़की को कैसे चोदे देखो यह Apps से Free (Download)

धीरे धीरे अब मैं एक असंतुष्ट औरत बन चुकी थी। करीब १ साल बीत गया था, मेरे डॉक्टर पति ने मेरी चूत नही मारी थी। मैं लंड खाने को तड़प रही थी। काश मेरे घर में कोई मर्द आकर मुझे कसकर चोद दे, मैं दिन रात यही सोचती रहती थी। लंड खाने का सपना मैं दिन रात किसी बावली की तरह देखती रहती। मुझे पड़ोस की औरतो की टोली में जाकर बैठना भी पसंद नही था। सब तो अपने अपने मर्दों से मजे से चुद्वाती रहती थी, मैंने अपनी बात उन औरतो को नही बतायी वरना उनको गॉसिप करने का अच्छा मौका मिल जाता। पर अंदर ही अंदर मैं एक असंतुष्ट शादी शुदा औरत थी। इसी बिच एक दिन मेरी घर की २ टोटियां फेल हो गयी। पानी रुक ही नही रहा था। मेरे पति ने नलवाले को फोन कर दिया और पति ऑफिस चले गये।

नल वाला ठीक १२ बजे आ गया, मेरी जिन्दगी तो वैसे ही बड़ी बोरियत भरी थी, टीवी के सिवा मेरा कोई सहारा नही था। टीवी ना होता तो मैं कब का पागल हो जाती। मैंने दरवाजा खोला। वो देखने में बहुत हैंडसम खुशमिजाज आदमी था।

“नमस्ते भाभी जी” वो बोला

“नमस्ते” मैंने कहा

“मुझे दिनेश भैया ने काल किया था। नल ठीक करने आया हूँ” वो हैंडसम लड़का बोला। वो काफी गोरा चिट्टा था। उम्र कोई २५ की होगी

यह कहानी भी पढ़िए ==>  Horny Aunty Ne Chudwaya

“….आओ…आओ” मैं उसे अंदर ले आई। उसने आधे घंटे में पुरानी टोटियाँ निकाल दी और नई लगा दी। उसके बाद मैं उसके लिए चाय बनाने चली गयी। चाय पीते पीते हम दोनों में बात करने लगी। बातो बातो में उसने बताया की उसकी शादी अभी २ महीने पहले ही हुई थी की उसकी बीबी खत्म हो गयी। उसके दिल में छेद था। ये बताकर वो नल वाला लड़का रोने लगा। मुझे उसका रोना देखा नही गया और मैंने उसके कंधे पर हाथ रख दिया।

“मेमसाहब…आप तो बहुत दयालू है। हम जैसे छोटे आदमी को तो लोग घर का कुत्ता समझते है, एक ग्लास पानी को भी नही पूछते है” वो नल वाला लड़का बोला।

वो मुझे अपना लगने लगा। मैं उसे बता दिया की अब मेरे पति मेरी चूत नही मारते है, क्यूंकि अब २ बच्चे होने के बाद मैं उतनी जवान और उतनी खूबसूरत नही रही।

“अब मुझे कोई प्यार नही करता!!” मैंने उस नल वाले लड़के से कहा

“ये तो वो गलत कह रहे है। आप तो आज भी बहुत सुंदर है” नल वाला लड़का बोला

“…अब कौन मुझसे प्यार करेगा” मैं रोते हुए बोली

“…मेमसाब…मैं आपसे प्यार करूँगा!” वो बोला

दोस्तों, मैंने उसे पकड़ लिया और बाहों में भर लिया। sexy story मेरे बच्चे स्कुल में थे और घर पर सिर्फ मैं और नल वाला था। पति अपने क्लिनिक में थे। उस नल वाले से चुदवाने के लिए ये समय बड़ा मस्त था। हम दोनों से एक दूसरे को बाहों में भर लिया और किस करने लगे। अचानक से वो मुझे बहुत सुंदर लगने लगा था। उसकी बीबी नही थी और मेरा पति जिन्दा होए हुए भी कभी मुझसे प्यार नही करता था। इसलिए आज मैंने उस नल वाले लड़के से कसकर चुदवाने का फैसला कर लिया था। मैं उसे पागलो की तरह यहाँ वहां चूमने लगी। वो भी मुझसे इसी जोश खरोश से प्यार कर रहा था।

उसने मेरी साडी निकाल दी और मुझे बरामदे में ही सोफे पर लिटा दिया। उस नल वाले लड़के ने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और पूरी तरह नंगा हो गया। उफ्फ्फफ्फ्फ़…कम से कम १०” का लम्बा लौड़ा था उसका। वो मेरे उपर लेट गया और मेरे रसीले होठ पीने लगा। मैंने भी उसे दोनों बाहों में कस लिया और जबरदस्त उसका गर्म गर्म चुम्बन मैं करने लगी। वो मेरे नीचे वाले होठो पर काट कर मुझे और जादा चुदासा बना रहा था। मुझे शत प्रतिशत विश्वास था की आज वो मुझे रगड़कर चोदेगा। उसके बाद वो मेरे हरे रंग के ब्लाउस से मेरे ३६” के मम्मे दबाने लगा। जो थोड़े ढीले पड़ गये थे। मैं मजे मारने लगी। फिर उसने मेरे ब्लाउस के सारे बटन खोल दिए और ब्लाउस निकाल दिया, फिर मेरी ब्रा भी उसने निकाल दी। मेरे गोरे बड़े बड़े पर थोड़े ढीले मम्मे उसके सामने थे। वो नल वाला मेरे चुच्चो को तेज तेज अपने हाथो से दबाने लगा और मुझे मजा देने लगा।

“आहहहह्ह्ह्ह…मेरे जानम ….मेरे यार…..मेरे दिलबर…..दबाओ ….दबाओ…..बहुत मजा आ रहा है” मैं किसी माल की तरह चिल्लाने लगी। वो तेज तेज मेरे मम्मो को हाथ में लेकर दबाने लगा। उफ्फ्फ्फ़….कितना मजा आ रहा था। पुरे १ साल बाद कोई मर्द मेरे दूध दबा रहा था और अपने मुंह में लेकर पी रहा था। आज वो नल वाला मेरी बेरंग जिन्दगी में एक मसीहा बनकर आया था। फिर उसने मेरा पेटीकोट खोल दिया और निकाल दिया। मेरी हरी रंग की चड्डी भी उसने निकाल दी।उस नल वाले ने मुझे पूरी तरह से नंगा कर दिया और वापिस सोफे पर लिटा दिया और वो उपर वो लेट गया और मुझसे प्यार करने लगा।

दोस्तों, आज मैं महसूस किया की मैं जिन्दा हूँ। करीब १ घंटे तक उस नल वाले ने मेरे ढीले लेकिन बड़े बड़े चुचे पिया और हाथ से दबाए, और मेरी चूत उसने जी भरकर पी और मुझे सुहागरात जैसा मजा दिया। मेरी चूत की एक एक कली को उसने बड़े करीने से पीया। अब वो मुझे कसकर चोदने जा रहा था।

“…..जान…..रुको!!” मैं अचानक कहा

“……मुझे पहले अपना मोटा लौड़ा चूसने को दो उसके बाद मुझे चोद लेना” मैं बोली

वो नल वाला हसने लगा। वो बरामदे में ही खड़ा हो गया sexy story  और मैं किसी चुदासी अल्टर छिनाल कुतिया की तरह उसके ठीक सामने घुटनों के बल बैठ गयी। और उसका लौड़ा हाथ में लेकर मैं फेटने लगी। उफ्फ्फ्फ़…इतना मोटा और १० इंच लम्बा लंड मैंने आजतक नही देखा था। मैं जल्दी जल्दी नल वाले लड़के का लंड फेटने लगी। इतना मोटा था की मेरे हाथ में बड़ी मुस्किल से आ पा रहा था। फिर मैंने आगे बढ़कर उसका मोटा मुंह में ले लिया और चूसने लगी। उस जवान लड़के ने मेरे सर पर हाथ रख दिया और अपनी दोनों आँखे बंद करके मुझसे मजे लेकर अपना लौड़ा चुस्वाने लगा। आह मुझे बहुत मजा मिल रहा था, उसका लंड चूसने में। आज मैं पुरे १ साल बाद किसी मर्द का लंड चूस रही थी। मुझे अद्भुत मजा मिल रहा था।

यह कहानी भी पढ़िए ==>  Dono Ki Pyass Bujh Gayi

उसके बाद नल वाले जवान लड़के ने मुझे दोनों कान के पास पकड़ लिया और जल्दी जल्दी अपने १० इंची लौड़े से मेरा मुंह चोदने लगा। मुझे मंजन करवाने लगा। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। मैं अपने मुंह में पूरा अंदर तक उसका लंड चूस रही थी। बीच बीच में मैं उसके मोटे लंड को काट भी लेती थी। फिर मैं उसकी गोलियां चूसने लगी। अब वो मुझे चोदने वाला था। “मेमसाब …अब सोफे पर लेट जाओ” वो जवान दयालु लड़का बोला तो मैं तुरंत सोफे पर लेट गयी। उसने मेरी दोनों टाँगे खोल दी। मैं पूरी तरह से नंगी थी और मेरे जिस्म पर एक कपड़ा तक नही था। आज मैं उस नल ठीक करने वाले लड़के से कसकर चुदवाना चाहती थी। उसने मेरी चूत पर अपना लौड़ा रख दिया और एक धीरे से धक्का मारा। दोस्तों २ २ बच्चे पैदा होने ने मेरी चूत तो वैसे ही फट चुकी थी और ढीली हो चुकी थी।

नल वाले लड़के का लौड़ा आराम से मेरी चूत में उतर गया और वो मुझे चोदने लगा। शुरू शुरू में मुझे ढीला लग रहा था पर कुछ देर बाद उतेज्जना और कामेक्षा से मेरी चूत कसी हो गयी और कुप्पा जैसी फूल गयी। वो जवान लड़का मुझे तेज तेज चोदने लगा। मैं जन्नत का मजा लेने लगी। मैंने दोनों हाथों से अपनी गोरी चिकनी जांघे पकड़ ली और उपर की तरफ उठा ली। वो नल वाला मुझे दनादन चोदने लगा। आज लगभग १ साल बाद मैं किसी मर्द का मोटा रसीला लंड खा रही थी और मजे से चुदवा रही थी।

“….आआआआअह्हह्हह… अई…अई…….ईईईईईईई  मर गयी….मर गयी…. मर गयी……मैं तो आजजजजज!!” मैं इस तरह से कामुक आवाजे निकालने लगी और मजे से चुदवाने लगी। कुछ देर बाद वो २५ साल का जवान नल वाला मुझे किसी स्लट (रंडी और वेश्या) की तरह चोदने लगा। वो मुझे हुमक हुमक के पेलने लगा।

“….आआआआअह्हह्हह… आज मेरी बुर को फाड़ फाड़कर इसका भरता बना डालो जाननननन….” मैं बार बार चिल्लाए जा रही थी। वो लड़का बिना मेरी आवाज सुने हुए मुझे दनादन चोद रहा था। मेरी दोनों चूचियां किसी गेंद की तरह बड़ी जल्दी जल्दी उपर नीचे उचल रही थी। मैं अपनी दोनों आँख बंद करके कामदेव को याद कर रही थी और काम लगवा रही थी। फिर वो लड़का मेरी बुर में और तेज धक्के मारने लगा। मेरे होश उड़ गये। वो नल वाला जवान २५ साल का लड़का मेरी चूत में बड़े आक्रामक धक्के मारने लगा।

मुझे किसी मशीन की तरह जल्दी जल्दी चोदने लगा। मैं अपनी कमर और गांड उठाने लगी। ये देखकर तो वो और चुदासा हो गया था।

“ओह्ह्ह्ह माँ… अहह्ह्ह्हह उहह्ह्ह्हह…. उ उ उ… आजजजज….मुझे कसके चोद दोदोदोदोदो…” मैं तेज तेज चिल्लाने लगी। उसने अपने दोनों हाथ मेरी उपर नीचे उछलती छातियों पर रख दिया और तेज तेज किसी टमाटर की तरफ दबाने लगा। इसके साथ ही मेरी काली निपल्स को वो ऊँगली से क्रूरता पूर्वक मसलने लगा। अब तो मैं जैसे पागल हुई जा रही थी। मेरे पुरे बदन में काम की अग्नि प्रज्वालित हो चुकी थी। ये सच है की आज मैं सारी दुपहिया चुदना चाहती थी। मेरी निपल्स मसलने मसलने वो मेरे भोसड़े में तेज झटके देने लगा और मुझसे उसने ४० मिनट बिना रुके चोदे और फिर लंड निकालकर मेरे मुंह पर झार दिया। कम से कम १० पिचारियां उसके माल की मेरे मुंह पर पड़ी, जिससे मेरा मुंह सन गया। मैं उस नल वाले लड़के का सारा माल पी गयी।

फिर मैंने अपनी चड्डी से ही अपना मुंह साफ़ कर लिया। वो नल वाला मेरे पास ही लेट गया और हम फिर से किस करने लगे।

“हा हा हा हा…मेमसाब….आपकी चूत मारने में तो मुझे बड़ा मजा आया हा हा …” वो हाँफते हाँफते बोला

“जान……मुझे भी तुमसे आज चुदवाकर बड़ा सुख मिला” मैंने कहा

फिर मैं उससे लिपट गयी और उसके होठो पर होठ रखकर मैं किस करने लगी। आज पुरे १ साल बाद मुझे लंड खाने को मिला। मेरा गांडू पति आज अगर मुझे चुदते देख लेता तो जलकर मर जाता। उसे भी मालुम पड़ जाता की अगर वो मेरी रसीली बुर नही चोदेगा तो कोई और चोदेगा। मेरा गांडू पति जान जाता। कुछ देर बाद मैं फिर से उसका लौड़ा चूसने लगी। अभी तो सिर्फ २ ही बजा था। मेरे पास तो अभी पूरी दोपहर थी उस नल वाले जवान लड़के से चुदवाने के लिए। मैं बिना किसी जल्दबाजी के बड़ी आराम से धीरे धीरे उसका लंड चूस रही थी। मैं करीब पौन घंटे तक उस नल वाले का लंड चूसा। फिर उसने मुझे चोदना शुरू किया।

सोफे पर जगह कम थी, इसलिए लड़के ने मुझे फर्श पर खीच लिया। मेरे बरामदे में फर्श पर एक बढ़िया कालीन पड़ा हुआ था, जिसपर हम दोनों मस्त चुदाई कर सकते थे। नल वाले ने मुझे कालीन पर लिटा दिया और मेरी चूत में अपना १० लौड़ा डाल दिया और मुझे शाम ५ बजे तक नंगा करके चोदा। sexy story

 

21 Comments
  1. akhil rajput
    | Reply
  2. rakehs
    | Reply
  3. karan
    | Reply
  4. SATISH KULKARNI
    | Reply
  5. rahul
    | Reply
  6. rakehs
    | Reply
  7. SATISH KULKARNI
    | Reply
  8. Prafull
    | Reply
  9. loy
    | Reply
  10. Ankit
    | Reply
  11. rohit
    | Reply
  12. nazmul
    | Reply
  13. Raghuraj singh jadon
    | Reply

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *