लुधियाना वाली भाभी की तड़प

loading...

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम अंकुश है और हाईट 5 फुट 8 इंच और में जालंधर से हूँ और मुझे शादीशुदा भाभी की चूत लेने में बहुत मज़ा आता है, क्योंकि इसमें कोई डर नहीं होता और ऐसी भाभी चुदवाने में बहुत मज़ा देती है। अब में आप सबको बोर ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ।

ये बात आज से 3 महीने पहले की है। में बहुत बीमार हो गया और में अपनी बहन के पास लुधियाना चला गया जो कि डॉक्टर है, वो किसी के घर में किराये पर रहती है। उसके मकान मालिक बहुत ही अच्छे है, लेकिन भाभी बहुत ही हॉट है। मेरी बहन के मकान मालिक के छोटे लड़के का एक्सिडेंट हो गया था और वो 4 महीने से बेड पर ही है और ना ही कुछ बोलता है और ना ही चल सकता है तो अब ऐसे में भाभी बहुत ही दुखी थी और किसी से ज्यादा बात भी नहीं करती थी और जब मेरी बहन  हॉस्पिटल चली जाती तो में रूम में अकेला ही रह जाता था और भाभी मुझे खाने को कुछ ना कुछ दे जाती थी। एक दिन जब वो मुझे जूस देने आई तो मैंने उनकी आँखों में एक अलग सी चमक थी, जैसे कि वो मुझे नंगा देख रही हो।

फिर मैंने भाभी से पूछा कि भाभी क्या बात है? तो उन्होंने कहा कि कुछ नहीं बस ऐसे ही। उस दिन वो मुझसे खुलकर बात करने लग गयी और में उनसे उनकी लाईफ के बारे में पूछने लगा तो वो कुछ दुखी सी हो गयी। फिर मैंने ज़ोर देकर पूछा कि क्या बात है भाभी मुझे नहीं बताओगी? वो पहले तो बहुत मना करती रही, लेकिन फिर बाद में बहुत ज़ोर देने पर उन्होंने बताया कि तुम्हें तो पता ही है कि तुम्हारे भैया का एक्सिडेंट हो गया है और में 4 महीने से तड़प रही हूँ और कोई नहीं है जो मेरी परेशानी को हल कर सके।

यह कहानी भी पढ़िए ==>  प्रोफेसर ने चूत स्टूडेंट से चुदवाई indian sex stories

फिर मैंने पूछा कि कैसी परेशानी? आप मुझे बताओ, में ज़रूर ठीक करूँगा और मैंने भाभी को मेरी कसम दे दी। अब भाभी तो मानों जैसे अंदर ही अंदर बहुत खुश हो गयी थी, लेकिन उन्होंने मुझे जाहिर नहीं होने दिया और कहने लगी कि तुम्हें तो पता ही है कि एक लड़की को क्या चाहिए होता है? और वो मुझे घुमा फिराकर बताने लगी। फिर अब में भी समझ चुका था कि वो क्या चाहती है? लेकिन में उनके मुँह से ही सुनना चाहता था, तो वो कहने लगी कि मुझे सेक्स किए हुए 4 महीने हो गये है और में घर से बाहर भी कभी नहीं गयी और अब मेरी तड़प भी बहुत ज्यादा बढ़ गयी है, अब तो दिल करता है कि किसी से भी चुदवा लूँ।

फिर जब उन्होंने ऐसा कहा तो मैंने भाभी का हाथ पकड़ लिया और बोला कि भाभी मैंने आपसे वादा  किया था कि में आपकी मदद करूँगा और ऐसा मौका आप मुझे दीजिए। आप ज़िंदगी भर याद रखोगी कि मैंने कैसे आपको खुश किया? फिर अगले दिन मेरी बहन के मकान मालिक का प्लान बना कि वो लोग भैया को दिखाने दिल्ली लेकर जा रहे है और 3-4 दिन में वापस आयेंगे तो अब घर पर में, भाभी और मेरी बहन ही रह गये थे और बाकी सब चले गये, वो सब लोग सुबह चले गये थे और थोड़ी देर के बाद मेरी बहन भी हॉस्पिटल ले लिए निकल गयी। फिर तभी में भाभी के रूम में गया, भाभी मेरा ही इंतजार कर रही थी और मैंने भाभी को ज़ोर से हग किया और किस करने लगा। अब वो तो मुझसे भी ज्यादा जल्दी में थी और बहुत ही खुश थी।

यह कहानी भी पढ़िए ==>  अब मैं नौकर को बेडरूम में बुलाकर हर रात अपनी चूत की सर्विसिंग करवाती हूँ :- रचना अग्रवाल
One Comment
  1. rakehs
    | Reply

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *