बहन और उसकी दोस्त को चोदकर चुदाई का चस्का लगाया

loading...

Desi kahani मेरा नाम आर्यन है यह मेरी पहली Sex Kahani है जो मैं यहां पर शेयर करने जा रहा हूं. यह मेरे लाइफ की एक सच्ची घटना है. स्टोरी में कुछ फालतू हो तो प्लीज इग्नोर कर दीजिए, हमारी जॉइंट फैमिली है. यह स्टोरी मेरी चाची की बेटी मुस्कान और उसकी दोस्त प्रतीक्षा के साथ चुदाई के बारे में है.

स्टोरी से पहले यह बता दूं मेरी बहन बहुत सेक्सी दिखती है, उसके बूब्स बहुत मिल्की है और उसकी दोस्त के बूब्स तो  उससे भी बड़े हैं. मैं उन दोनों को देखकर काफी बार मुठ्ठ मार चुका था, लेकिन अब मेरा मन उन्हें चोदने का था. खासकर मेरी  बहन की दोस्त को.

मेरी बहन का नाम मुस्कान था और उसकी दोस्त का नाम प्रतीक्षा था.

मेरी बहन मुझ से २ साल बड़ी है.

loading...

यह बात हमारी छुट्टियों की है.

प्रतीक्षा हमारे यहां रोज आया करती थी.

मैं उसे देख कर मुठ मारता था.

एक दिन मुस्कान और प्रतीक्षा मेरे मम्मी पापा के साथ किसी काम से गए हुए थे. आते वक्त उन्हें काफी देर हो गई तो मेरे घरवालों ने कहा की प्रतीक्षा हमारे घर पर ही रुक जाओ, लेकिन वह नहीं मान रही थी. तब मेरी बहन ने भी उसे रुकने की जिद की, तब वह हमारे घर पर रुकने के लिए राजी हो गई. मेरे मन में तो जैसे लड्डू फूट रहे थे.

मैं तो वैसे भी कोई मौका चाहता था कि मैं उसे चोद सकु.

हमारा घर दो फ्लोर का है और मेरी बहन और मेरा कमरा सबसे पास में सबसे ऊपर वाले फ्लोर पर है. रात के करीब १२:३० बजे थे, सब घर वाले सो गए थे, लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी.

और बहन के कमरे की लाइट भी चालू थी, तो मैंने सोचा कि क्यों ना उसके रूम में ही चला जाता हूं.

मुझे जैसे ही अंदर गया मेरी बहन के रूम में घुसा तो मुझे महसूस हुआ की शायद वह दरवाजा बंद करना भूल गई थी, मैंने देखा तो मुस्कान और प्रतीक्षा एक दूसरे के बूब कपड़ों के ऊपर से ही दबा रही है, और एक दूसरे को जोर-जोर से किस कर रही थी.

मुझे देख कर दोनों हैरान हो गई और रुक गई और मेरी बहन मुझसे कहने लगी कि प्लीज़ मैं किसी को घर में कुछ ना बताऊं.

मैंने कहा कि मैं किसी को घर में कुछ नहीं बताऊंगा, लेकिन उसकी एक शर्त है. तो वह बोली की मुझे सारी शर्त मंजूर है, बस तुम घर वालों को कुछ नहीं बताओगे.

मैंने कहा पहले मेरी शर्त सुनो.. मेरी शर्त यह है कि तुम दोनों को मेरे साथ सेक्स करना पड़ेगा. मेरी शर्त सुनते ही दोनों मुझ पर चिल्लाने लगी और कहा कि ऐसा नहीं हो सकता. तो मैंने कहा ठीक है. तो मैं घर के घरवालों को सब कुछ बता दूंगा. उन दोनों ने बहुत मना किया मगर मेरे बार बार  करने के कारण वह मान गई. मैंने कहा तुम दोनों मेरी नौकरानी हो आज रात के लिए मैं जो कहूंगा वह तुम्हें करना होगा. मैंने मुस्कान को अपनी तरफ खींचा और उसे जोर जोर से किस करने लगा. और उसके बूब्स दबाने लगा. वह मुझसे अपने होंठ छुड़ाने की कोशिश करने लगी. मेने धीरे धीरे मेरी बहन के कपड़े उतारना चालू किया. पहले उसका टॉप फिर उसका लोवर उसके बुब्स बाहर आने की जिद कर रहे थे.  मैं उसके पिंक कलर के ब्रा को खोल दीया और उसके बड़े बूब मसल के उसकी पिंक कलर की पैंटी उतार दी.

मैंने प्रतीक्षा की शर्ट के बटन खोले , लेकिन मैंने उसकी जींस भी उतार दी, उसने ब्लैक कलर की ब्रा और पेंटी पहनी थी. वह उस में बहुत सेक्सी लग रही थी. मैंने उसका भी ब्रा खोलकर उसके बुब्स को आजाद किया, फिर उसके बुब्ब्स  मसलते हुए उसकी पेंटी उतारी और सूंघने लगा. अब मैंने उन दोनों को मेरे कपड़े उतारने के लिए कहा. मुस्कान ने मेरी टी-शर्ट  उतारा और प्रतीक्षा ने मेरा लोवर उतारा और मेरी अंडरवियर भी. हम तीनों नंगे थे मैंने प्रतीक्षा को लंड चूसने के लिए कहा पहले तो वह मना कर रही थी, लेकिन फिर मैंने उसको जोर से अपने पास खींचा और अपना लंड उसके मुंह में दे दिया, वह मेरा लंड चूसने लगी. तब मैंने मुस्कान को उसके लटकते हुए बूब्स चूसने को कहा.

अब मुस्कान मेरा लंड चूस रही थी प्रतीक्षा उसकी चूत चाट रही थी और मैं मुस्कान के बूब्स दबा रहा था, मुस्कान प्रतीक्षा के मुंह पर ही जड गई उसका मुह गीला हो गया. फिर मैंने प्रतीक्षा को डॉगी स्टाइल में बैठने को कहा और पीछे से मैंने मेरा ७.५ इंच का लंड उसकी चूत में डाल दिया, वह चिल्ला उठी अह्ह्ह औऊ ईई  आमा ईई मम्मा इईई औऊ ओह्ह्ह इह्ह्ह. धीरे करो ना, अब मैं अपना लंड अंदर बाहर करने लगा और उसके हीलते हुए बुब्स को जोर जोर से मसलने लगा, मुस्कान मेरी गांड चाट रही थी. करीब २० मिनट बाद मैंने उसे सीधा लेटाया और आगेसे चोदना चालू किया.

अब उसकी आवाज भी तेज हो गई थी वह दर्द के मारे आह्ह औऊ ईई अह्ह्ह फ हहह ई मम्मा चिल्ला रही थी, मैं जडने वाली हूं और वह जड़ गई, लेकिन अब मैंने स्पीड बढ़ा दी जिसकी वजह से उसे बहुत परेशानी हो रही थी, और वह आह्ह औउ उओओ इऔउ हहह करते करते दूसरी बार भी जड़ गई, और मैं भी झड़ने वाला था. मैंने अपना लंड  उसकी चूत से बाहर निकाला और उसके मुंह में दे दिया, और मैं उसके मुंह में पूरी तरह जड़ गया और मुस्कान को फिंगरिंग करने लगा. वह भी झड़ गई.

करीब एक घंटे का आराम करने के बाद मैंने अपनी बहन के बूब्स मसलते हुए उसे चोदना चालू किया और प्रतीक्षा मेरी गांड चाट रही थी. मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और वह मां अहह औऊ ईई ओह हहम्म्म ओह हहह  मर गई करने लगी, और झड़ गई. और मैं भी उसके मुंह में झड़ गया. फिर प्रतीक्षा और मुस्कान दोनों ने मेरा लंड चूसना चालू कीया और मैं उन दोनों के मुंह पर ही जड़ गया, उस रात मैंने दोनों को चार चार बार चोदा, उस रात के बाद मेरी बहन और उसकी दोस्त दोनों मेरे सेक्स स्लेव बन गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *