फ़ोन के द्वारा कुँवारी चूत चुदाई

नमस्कार दोस्तो,

मेरा नाम आदित्य है, मैं 23 साल का हूँ! मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ। मैं काफी समय से मेरी सेक्स स्टोरी की कहानियाँ पढता आ रहा हूँ, खासकर जब कोई लड़की अपनी कहानी भेजती है! तो उसे पढने में मुझे बहुत मज़ा आता है!

आज मैं भी अपनी सच्ची कहानी, आप सबके सामने पेश कर रहा हूँ! जो मेरी पहली प्रेमिका की है! जिसका नाम अनु है। अनु से मेरी बात एक गलत नंबर लगाने से शुरु हुई!

पहले उसने बहुत नखरे दिखाए! ठीक से बात भी नहीं करती थी। लेकिन आख़िरकार वो दिन आया! जब वो मुझसे मिलने के लिए मान गई.

loading...

जब मैंने उसे पहली बार देखा! तो देखते ही मेरे पेंट में तम्बू बन गया! और उसे भी मैं काफी पसंद आया! मैं भी देखने में सुन्दर हूँ।

चूचियाँ छूने और चुम्बन का एहसास
वो पूरे गदराए हुए, जिस्म की मल्लिका है! पहली मुलाकात में ही, मुझसे रहा नहीं गया! मैं उसे सुनसान जगह पर ले गया!

उसको होंठों पर चुम्बन करने लगा। पहले तो उसे गुस्सा आया, लेकिन बाद में! जब मैंने उसकी चूचियों को सहलाने शुरु किए! तो उसे भी मजा आने लगा!

वो चुम्बन में मेरा साथ देने लगी! और काफी गर्म हो गई! लेकिन जगह सही नहीं थी! तो हम दोनों को खुद पर काबू करना पड़ा।

उसके बाद हम फ़ोन पर, रात-रात भर रसभरी बातें करते थे! और वो बहुत गर्म हो जाती थी! मैं भी तो यही चाहता था!

प्रेमिका से चुदाई करने का हसीन मौका
एक दिन! मैंने उसे मिलने के लिए एक होटल में बुलाया। बहुत नखरे करने के बाद! वो मान गई। मैं उसे उसके घर के पास लेने गया, और उसे बाइक पर बिठाकर होटल पहुँचा.

वहाँ मैंने पहले ही रूम बुक कर लिया था! मैं उसे लेकर सीधे कमरे पहुँचा। वो एक जालीदार टॉप और जीन्स पहनी हुई थी, जिसमे से उसकी ब्रा साफ़ नजर आ रही थी!

उसको देखकर! मैं पुरे जोश में आ गया था! मैंने देर नहीं की और उसे बेड पर पटक दिया। अब उसके होंठों का रसपान करने लगा! वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी!

करीब 10 मिनट की चूमा चाटी के बाद! मैंने उसे खड़ा किया, और उसकी टॉप को उतारने लगा। उसने अपने हाथ ऊपर करके, मेरे लिए आसान कर दिया!

वो सफ़ेद रंग की ब्रा पहनी थी, और जिस्म एकदम दुधिया गोरा था! उसके चूचे देखकर! मैं बेकाबू हो गया, और एक ही झटके में उसकी ब्रा निकाल दी!

नंगी चूचियों को छूने का मजा
जिससे उसको थोड़ा दर्द हुआ, और उसके मुँह से मीठी सी आह! निकल गई। अब मैं उस पर टूट पड़ा! उसकी चूचियों को देख! मन कर रहा था, खा जाऊँ काट कर!

क्या चूचियाँ थी! एक हाथ से उसकी चूचियाँ मसल रहा था, और चूस रहा था! दूसरे हाथ से उसकी जीन्स निकाल रहा था! पता नहीं! लड़कियाँ इतनी टाईट जीन्स क्यों पहनती है?

यह कहानी भी पढ़िए ==>  Bhai Ke Liye Bhabhi Ko Maa Banaya

जीन्स उसके कुल्हों से नीचे ही नहीं आ रही थी! अचानक! उसने अपनी कुल्हे उठा कर, खुद ही जीन्स को नीचे कर दिया! यह हम दोनों का ही पहली बार था!

हम दोनों वासना की आग में बुरी तरह से ज़ल रहे थे! उसने पलक झपकते ही! मेरी टी-शर्ट उतार फेंकी। मैंने भी अपनी जीन्स उतार दी!

हम दोनों के नंगे बदन! जब आपस में मिले तो आह्ह! वो एहसास! मैं शब्दों में कैसे बयां करूँ! उसने मुझे कसकर अपनी बाँहों में जकड लिया, और मेरी पीठ पर अपने नाख़ून गड़ा दिए।

कुँवारी चूत में उंगली करने का आनन्द
अब मेरे होंठों को चूसने लगी! मैं उसकी चूचियों के घुंडियों को उंगली से मसल रहा था! और एक हाथ से, उसकी चूत सहला रहा था!

मैंने एक उंगली, उसकी चूत के अन्दर डाली! तो उसकी सीत्कार निकल गई। एकदम कुँवारी चूत थी! शायद! उसने कभी हस्तमैथुन भी नहीं किया था!

मैंने धीरे धीरे! उंगली अन्दर बाहर करनी शुरु की! वो उत्तेजना में, आह! आअह! कर रही थी। उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया था!

अब मैं उसे चूमते हुए! नीचे बढ़ने लगा। उसकी नाभि एकदम गहरी और उत्तेजक लग रही थी! जब मैंने उसे नाभि पर चूमा, तो वो कांप उठी!

कोमल चूत चूसने का अनोखा आन्नद
अब मैं थोड़ा और नीचे आया, उसकी चूत पर! जिसपर एक भी बाल नहीं था! नीचे से ऊपर की ओर अपनी जीभ फिराई।

एकाएक! उसने मेरे बाल पकड़कर! मेरा सर अपनी अपनी चूत पर दबा दिया! मैं भी पूरी चूत अपने मुँह में भर कर चूसने लगा! वो तो जैसे! एकदम पागल सी हो गई!

वो अपने हाथ पैर फेकने लगी! अब मैंने उसे जीभ से चोदना शुरु किया! वो मेरा सर चूत में लगातार दबा रही थी!

ऐसा लग रहा था! मेरा पूरा सर अपनी चूत में डालना चाहती हो! थोड़ी देर में! वो अकड़ने लगी, और झड गई। उसके रस से मेरा पूरा मुँह भीग गया।

चूत के कामरस का खट्टा मीठा स्वाद
पहले तो मुझे बड़ा अजीब लगा! लेकिन बाद में! रस का स्वाद मुझे अच्छा लगा! हल्का नमकीन सा! मैं फिर भी उसकी चूत को जीभ से चोदता रहा!

वो शांत होकर लेट गई! थोड़ी देर बाद! वो फिर से गर्म हो गई, और अचानक उठी! मुझे बेड पर लेटा कर बोली- अब मेरी बारी!

अब मेरे पूरे चेहरे पर चुम्मो की बरसात कर दी! मेरे होंठों को चूसने लगी! और अपनी जीभ मेरे मुँह में डालकर! ऐसे घुमा रही थी जैसे अन्दर कुछ तलाश रही हो!

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था! अब वो नीचे आकर, मेरे सीने पर चुम्बन करते हुए! सीधे मेरे लण्ड पर पहुच गई! और उसे मुँह में भर लिया! मुझे थोड़ा ताज्जुब हुआ!

मैंने उससे पूछा- तुम्हारा तो पहली बार है! तो तुम्हें लण्ड चूसना कैसे आता है?

यह कहानी भी पढ़िए ==>  School May Aayi New Young Sports Teacher

उसने कहा- तुम्हारा भी तो पहली बार है! तो तुम्हे यह सब कैसे आता है?

लण्ड चूसवा किया जन्नत का सैर
मैंने कहा- ब्लू फिल्म में देखा है, मैंने!

उसने कहा- क्या! केवल लड़के ही ब्लू फिल्म देखते है?

मैं मुस्कुरा दिया! और वो दुबारा लण्ड चूसने लगी! मैं तो जन्नत की सैर कर रहा था! वो लण्ड ऐसे चूस रही थी! जैसे उसे कोई लोलीपॉप मिल गया हो!

मुझे लगा! मैं झड़ने वाला हूँ! अब मैंने उसे वहाँ से हटाया, वो मेरा होंठ चूसने लगी! मैं भी उसकी चूत मे उंगली करने लगा! उसकी चूत एकदम गीली थी!

मैंने उसे बेड पर लेटाया, और उसकी टाँगों में बीच में आ गया। उसकी टाँगें फैला कर अपने पैरों के ऊपर कर ली। लण्ड उसकी चूत पर नीचे से ऊपर रगड़ने लगा!

चूत की सील तोड़ने की अजीब एहसास
वो कसमसाने लगी! और वासना में बुरी तरह ज़ल रही थी। मैंने लण्ड चूत पर सेट किया, और एक ज़ोरदार धक्का लगाया! धक्का इतनी तेज़ थी,कि वो पीछे खिसक गई.

आधा लण्ड उसकी चूत में जा चुका था, जिससे वो तिलमिला कर रह गई। शायद! उसे पता था, कि दर्द होगा! उसकी आँखें लाल हो गई। दर्द से मैं थोड़ी देर रुका और उसे चूमने लगा।

जब वो थोड़ी सामान्य हुई, तो मैंने दूसरा धक्का लगाया। इस बार लण्ड पूरा अन्दर चला गया! जिससे उसे कुछ ज्यादा ही दर्द हुआ। अब वो मुझे धक्के देने लगी!

वो बार बार कह रही थी- छोड़ दो! मुझे बहुत दर्द हो रहा है!

मैंने सोचा! अगर अभी छोड़ दिया तो, यह दुबारा नहीं करने देगी! मैं धीरे धीरे धक्के लगाने लगा। थोड़ी देर बाद! वो सामान्य हो गई और मेरा साथ देने लगी।

अब वो मुझे अपनी बाँहों में कसे जा रही थी! मैं अपने धक्कों की स्पीड बढ़ा रहा था, और उसके होंठ चूस रहा था!

चूत और लण्ड एक साथ झड़ने का मजा
करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद! वो कहने लगी- आदित्य मुझे कुछ हो रहा है!

मैं भी अपनी चरम सीमा था! और 8-10 धक्कों के बाद! वो झड़ने लगी! हर धक्के में फच फच की आवाज़ आने लगी! और मैं भी उसकी के साथ उसकी चूत में झड गया!

हम दोनों पसीने में पूरी तरह भिग चुके थे! मैं उसी के ऊपर लेटा रहा! और वो मेरे बालों में हाथ फेर रही थी। कुछ देर बाद! हम दोनों उठे। और बाथरूम में एक साथ नहाए!

मैं उसे उसके घर छोड़ कर आया, जब वो बाइक से उतरी, तो ठीक से चल नहीं पा रही थी!

मुझे लगा! कहीं उसके घर में किसी को पता ना चल जाए! लेकिन! ऐसा कुछ नहीं हुआ।

हम दोनों दो साल साथ रहे! और इस बीच हमने कई बार मज़े किए! अब उसकी शादी हो गई है, और मैं फिर से अकेला हो गया!

loading...

जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
6 Comments
  1. rakehs
    | Reply

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *