चाची ने लंड पकड़कर चोदना सिखाया

हैल्लो दोस्तों, आज में आप सभी लोगों को अपनी एक सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ जो करीब आज से दो साल पहले की है, जब में अपने कॉलेज के दूसरे साल में हुआ करता था और में उस समय अपने चाचा के पास वाले घर में ही रहता था और अपनी पढ़ाई किया करता था। दोस्तों मेरे चाचा की नौकरी एक प्राईवेट कंपनी में होने की वजह से वो अक्सर घर पर थोड़ा देरी से ही आया करते थे और चाची एक हाउस वाईफ थी। चाची को देखकर मुझे हमेशा लगता था कि वो मेरे चाची के साथ उनकी चुदाई से संतुष्ट नहीं है। उनके फिगर का साईज करीब 36-30-38 होगा और अभी उनकी शादी को सिर्फ़ दो साल ही हुए थे और उनका अभी कोई बच्चा नहीं था। दोस्तों अब में आपको थोड़ा अपनी चाची के बारे में भी बता देता हूँ। दोस्तों वो दिखने में बहुत गोरी, सुंदर है और उनका बदन बहुत कसा हुआ है और उनके बूब्स के तो क्या कहने एकदम अच्छे आकार के थे और जब भी में उनको नाईट ड्रेस में देखता था तो में उन्हें देखकर अपने आप को रोक नहीं पाता था। दोस्तों अब में आप सभी का ज़्यादा समय ना खराब करते हुए सीधे आपको अपनी आप बीती सुनाता हूँ।

उस समय गर्मी के दिन चल रहे थे तो में पानी लेने अपनी चाची के पास चला गया। मैंने दरवाजे पर खड़े रहकर आवाज़ लगाई, दरवाजे को बहुत बार ठोका बजाया, लेकिन मेरे बहुत इंतजार करने पर फिर भी कोई भी दरवाजा खोलने नहीं आया। फिर मैंने दरवाजे को थोड़ा सा अंदर की तरफ धकेल दिया। मैंने देखा कि वो पहले से ही खुला हुआ था और फिर वो खुल गया और में अंदर चला गया और अंदर आने के बाद मुझे बाथरूम से पानी गिरने की आवाज सुनाई दी तो में बाथरूम के पास में चला गया और एक छोटे से छेद से अंदर झाककर देखने लगा, दोस्तों वो क्या मस्त नज़ारा था? चाची पूरी नंगी होकर नहा रही थी और उनके रसीले बड़े बड़े लटकते हुए बूब्स क्या सेक्सी मस्त लग रहे थे और मैंने देखा कि उनकी चूत पर एक भी बाल नहीं था और वो एकदम साफ सुथरी थी, जिसको देखकर मेरा तो लंड वहीं पर खड़ा हो गया, मेरा तो मन कर रहा था कि अभी बाथरूम का दरवाजा खोलकर अंदर घुस जाऊँ और उनको वहीं पर चोद डालूं, लेकिन मैंने जैसे तैसे अपने आप पर बहुत कंट्रोल रखा, लेकिन अपने लंड को पेंट में सीधा करने के चक्कर में मेरे हाथ से पास में रखी एक बोतल गिर गई और उस बोतल की आवाज़ सुनकर चाची डर गई और वो ज़ोर से चिल्लाकर पूछने लगी कि कौन है? फिर मैंने तुरंत वहां से थोड़ा दूर जाकर उनकी बात का जवाब दिया कि हाँ में हूँ चाची मेडी तो उन्होंने संतुष्ट होकर जवाब दिया कि अच्छा तो तुम हो, चलो थोड़ी देर बैठो, में अभी आती हूँ। फिर में जाकर बैठ गया और कुछ देर बाद चाची साड़ी पहनकर बाहर आई, शायद उन्होंने उस समय ब्रा नहीं पहनी हुई थी, इसलिए उनके बूब्स कुछ ज़्यादा साफ, बड़े और उनकी निप्पल बिल्कुल साफ साफ नजर आ रही थी और वो उनके चलने पर कुछ ज्यादा उछल भी रहे थे, जिसको देखकर में मन ही मन उनकी तरफ आकर्षित होता जा रहा था और में लगातार उनके बूब्स को घूर घूरकर देखता रहा। दोस्तों कुछ देर बाद चाची ने मेरा हाथ पकड़कर मुझे पूरी तरह ऊपर से नीचे तक हिला दिया, तब जाकर में अपने होश में आ गया और वो मुझसे मुस्कुराकर पूछने लगी कि क्यों ऐसे कहाँ खो गए, क्या आज तुम मुझे कच्चा ही खा जाओगे? फिर मैंने तुरंत अपनी गर्दन नीचे झुकाकर उनकी बात का जवाब दिया और उनसे कहा कि चाची मुझे थोड़ा ठंडा पानी चाहिए था। फिर वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर झट से किचन के अंदर पानी लेने चली गई और मैंने उनसे पूछा कि क्यों चाचा कहीं नहीं दिखाई दे रहे? फिर उन्होंने कहा कि हाँ वो इस समय घर पर नहीं है, क्योंकि वो तीन दिन के लिए बाहर गये हुए है और फिर वो मुझसे कहने लगी कि क्यों तुम आज एक काम करो ना कि तुम आज रात यहीं पर रुक जाओ, वैसे भी गरमी बहुत है तो तुम भी मेरे साथ यहीं पर ए.सी. में सो जाना। फिर मैंने भी तुरंत बिना कुछ सोचे समझे उनकी बात पर झट से हाँ कह दिया और फिर में शाम को खाना खाकर उनके पास सोने के लिए पहुंच गया। फिर हम दोनों पास में बैठकर टी.वी. पर हॉलीवुड फिल्म देख रहे थे और वो उस समय मेरे एकदम पास में बिल्कुल सटकर बैठी हुई थी और मैंने उस समय छोटी पेंट और एक टी-शर्ट पहनी हुई थी। तभी अचानक से फिल्म में एक किसिंग सीन आ गया। फिर मैंने तुरंत से वो चेनल बदल दिया तो चाची मुझसे बोली कि तुमने उसे क्यों बदल दिया? मैंने कहा कि बस ऐसे ही तो उन्होंने एकदम झटके से मेरे हाथ से टी.वी. का रिमोट लेकर फिर से वही फिल्म लगा दी और अब फिल्म में कुछ ज़्यादा ही सेक्स के सीन भी आने लगे थे, जिनको देखकर मेरी केफ्री में मेरा लंड अब तनकर खड़ा हो गया था और तम्बू बन चुका था और में रात को सोते समय केफ्री के अंदर अंडरवियर कभी नहीं पहनता और उस बात पर चाची ने गौर कर लिया था।

यह कहानी भी पढ़िए ==>  Office Friend Ki Wife Chodi

फिर चाची ने मुझसे पूछा कि क्या तूने कभी यह सब नहीं किया? मैंने शरमाते हुए कहा कि जी नहीं और फिर वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर हंस पड़ी और अब वो मुझसे कहने लगी कि अगर कोई तुझे यह सब सिखाए तो, फिर मैंने कहा कि ऐसा कौन है जो मुझे यह सब कुछ सिखाएगा, क्योंकि मेरी तो अब तक कोई गर्लफ्रेंड भी नहीं? तो तुरंत उन्होंने कहा कि कोई बात नहीं तू ज्यादा निराश ना हो, में तुझे यह काम करना सीखा दूंगी। दोस्तों अब में उनके मुहं से यह बात सुनकर शरम से एकदम लाल हो रहा था और तभी उन्होंने मेरी केफ्री के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ लिया और मेरी तरफ मुस्कुराने लगी, मुझे उनकी वो शरारती हंसी देखकर अब सब कुछ समझ में आ गया कि वो आज रात को मुझसे क्या चाहती है? तभी उन्होंने मेरे लंड को अब धीरे मसलना, सहलाना शुरू कर दिया और फिर वो अचानक से मेरे ऊपर टूट पड़ी और मुझे किस करने लगी और में भी अब उनका साथ देने लगा था। फिर करीब 15 मिनट तक हमारे बीच ऐसा ही चलता रहा। फिर चाची मुझसे बोली कि चलो उठो अब हम बेडरूम में चलते है और वहां पर जाकर चाची ने मेरी टी-शर्ट और केफ्री को उतार दिया था। अब में उनके सामने पूरा नंगा खड़ा हुआ था। चाची मेरा लंड देखकर बोली कि वाह मेडी मज़ा आ गया, तेरा लंड तो कितना बड़ा है? फिर वो ज़ोर ज़ोर से मेरा लंड हिलाने लगी और अब उन्होंने धीरे धीरे लंड को मुहं में लेना शुरू कर दिया, उफ़ क्या बताऊँ वो क्या जन्नत सा लग रहा था। फिर उन्होंने कंडोम निकाला और उसे कैसे लंड पर पहनते है, वो मुझे बताया। फिर उन्होंने अपनी साड़ी को और ब्लाउज को भी उतार दिया और वो मुझे अब लगातार किस करने लगी और मुझसे अपने बूब्स दबवाने लगी, वाह दोस्तों क्या मस्त मुलायम बूब्स थे। मैंने उनके अपने हाथों में लेकर दबाकर, छूकर महसूस किया और अब मैंने अपना एक हाथ नीचे ले जाकर उनकी पेंटी को भी उतार दिया। अब वो भी मेरे सामने पूरी नंगी थी और में उनके ऊपर आकर पूरे बदन को किस कर रहा था और साथ में उनके बूब्स को भी दबा रहा था और सक कर रहा था, जिसकी वजह से चाची को बहुत मज़ा आ रहा था। जब में अपनी जीभ से उनके निप्पल के साथ खेलता तो वो ज़ोर ज़ोर से आहे भरती थी, अह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह्ह्ह प्लीज मेडी और ज़ोर से करो, आईईईईईइ मुझे बहुत मज़ा आ रहा है, अब तक चाची भी पूरी तरह से गरम हो गई थी।

यह कहानी भी पढ़िए ==>  Nokarani ki lambi choot

फिर उन्होंने मुझसे कहा कि प्लीज मेडी तुम अब मेरी चूत को भी चाटो ना और अब मैंने भी ठीक वैसा ही किया और जैसे ही मेरी जीभ उनकी चूत पर छूने लगी तो चाची ने आहें भरना शुरू कर दिया और अब वो आआआहह आआअहह मेडी आईईईईइ प्लीज हाँ अंदर प्लीज और थोड़ा और अंदर डालो, अब हम दोनों 69 पोजीशन में शुरू हो गए। फिर करीब तीस मिनट तक हमारे बीच यह काम चलने के बाद चाची झड़ गई और उन्होंने मुझसे कहा कि मेडी प्लीज अब मुझसे नहीं रुका जा रहा है थोड़ा जल्दी से डाल दो अपना लंड मेरी चूत में और फिर मैंने अपना लंड डालना शुरू किया कि चाची ज़ोर ज़ोर से चीखने लगी हे राम में मर गई उह्ह्हह्ह्ह्ह आईईईईई तुम्हारा कितना बड़ा है। फिर मेरे एक ज़ोर का धक्का मारने पर लंड अंदर फिसलता हुआ अंदर चला गया और चाची की चूत से खून भी बाहर निकल रहा था। फिर मैंने धीरे से धक्के मारना शुरू कर दिए तो चाची बोलने लगी कि प्लीज मेडी थोड़ा और धीरे करो उह्ह्हह्ह आज तो में मर गई, थोड़ा और धीरे धीरे करो, लेकिन में अब कहाँ रुकने वाला था, में भी लगातार ज़ोर ज़ोर से धक्के मारकर चुदाई करता गया।

loading...

दोस्तों उस कमरे में ए.सी. चालू होने के बाद भी में पूरा पसीना पसीना हो गया था और आईईईइईईई में उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ माँ मर गई चाची आहें भर रही थी। फिर कुछ देर बाद वो भी अपना दर्द भुलाकर मेरे साथ पूरे पूरे मज़े लेने लगी और कुछ देर बाद उन्होंने मुझे उनके ऊपर से हटने को कहा और वो मेरे ऊपर आकर बैठ गई और मेरे लंड को अपनी चूत में डालकर लंड पर ज़ोर ज़ोर से कूदने लगी, कुछ देर बाद उन्होंने मुझसे कहा कि में तुम्हे एक नई सेक्स करने की स्टाईल सिखाती हूँ और वो अब थोड़ा सा नीचे की तरफ झुक गई और उन्होंने मुझसे कहा कि तुम अब अपना लंड मेरे पीछे से डाल दो और फिर उन्होंने मुझसे जैसे कहा मैंने ठीक वैसे ही अपना लंड डालकर धक्के मारना शुरू कर दिए। दोस्तों करीब तीस मिनट के उन लगातार धक्को के बाद में झड़ने वाला था और फिर चाची ने मुझसे कहा कि कोई बात नहीं तुम मेरे अंदर ही अपना वीर्य डाल दो और फिर में उनकी चूत में ही झड़ गया। फिर हम दोनों थोड़ी देर एक दूसरे पर ऐसे ही पड़े रहे, वो मेरे लंड को धीरे धीरे सहला रही थी और थोड़ी देर बाद मेरा लंड एक बार फिर से तनकर खड़ा हो गया और उसे खड़ा देखकर चाची बड़ी खुश हो गई और इस बार उन्होंने मुझे गांड कैसे मारते है वो सिखाया। दोस्तों आधी रात तक हमारे बीच यह सब काम होता रहा और हम दोनों पूरे नंगे ही बेड पर थककर ना जाने कब सो गये। सुबह उठते ही चाची ने मुझे किस किया और कहा कि में कब से ऐसा दमदार, मोटा, लंबा, ज्यादा समय तक रुककर चुदाई करने वाला लंड ढूंढ रही थी, क्योंकि तेरे चाचा तो चुदाई करते समय बहुत जल्दी थक जाते है और मुझे उनके साथ सेक्स करने में आज तक कभी भी ऐसा मज़ा नहीं आया जैसा मज़ा तूने मुझे कल रात को चोदकर मुझे दे दिया, तूने मेरी प्यासी चूत को अपने लंड से शांत कर दिया, तू बहुत अच्छी चुदाई करता है और अब में हमेशा तुझसे ही अपनी चुदाई करवाऊँगी, क्योंकि आज से मेरी चूत को तेरे लंड से ही चुदकर संतुष्टि प्राप्त होगी, तुझे जब भी समय मिले मुझे चोदने चला आना।

फिर मैंने भी उनको चुदाई करना सिखाने और मुझसे अपनी चुदाई करवाने के लिए धन्यवाद कहा और फिर में वहां से चला आया, लेकिन दोस्तों अब जब भी मुझे मौका मिलता तो में उनके पास पहुंच जाता और हम दोनों चुदाई करने के काम में शुरू हो जाते। मैंने उनको उनके घर के अलावा कई बार मेरे घर पर भी चोदा और उन्होंने मुझसे बहुत बार अपनी चुदाई करवाई और हमने बहुत मज़े किए ।।

loading...

जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *