अरे साला मैं तो चोदु बन गया

loading...

नमस्ते दोस्तों, मेरा नाम रघु रोकड़ा है और मैं घर में रहता हूँ | मेरी उम्र 24 साल है और मेरे कॉलेज की पढाई भी खत्म हो चुकी है | मेरे घर में मैं और मेरी बड़ी दीदी हैं | वो जॉब करती हैं और उनका नाम कुट्टी है | दोस्तों, आज मै आप लोगो को अपने जीवन की एक दम सच्ची घटना बताने जा रहा हूँ | आज जो मैं आप लोगो को कहानी के माध्यम से अपनी घटना के बारे में बताने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है | तो अब मैं ज्यादा वक़्त ना लेते हुए सीधा कहानी में आता हूँ |

ये घटना पिछले साल की है | जब मैं अपने दोस्त के साथ मुंबई घूमने गया | मैं और पप्पू पेजर हम दोनों ही बहुत अच्छे दोस्त हैं | जब हम वहां पंहुचे तो होटल में रूम लिए और फिर अपना अपना बैग रूम में रख दिया | मैं नहाने चला गया और वो रेस्ट करने लगा | फिर मैं नहा कर निकला और वो बाथरूम में नहाने चला गया | मैं रेडी हो कर उसके तैयार होने का वेट करने लगा | उसके बाद जब वो रेडी हुआ तो सबसे पहले हम गेट वे ऑफ़ इंडिया घूमने गए | उसके बाद हम कई जगह घूमने गये | तभी अचानक से बारिश होने लगी | हम दोनों भीग गये थे बुरी तरह से | फिर हम होटल आये उसके बाद कपडे चेंज किये | पप्पू पेजर को छींक आने लगी | मैं समझ गया कि अब इसकी तबियत ख़राब हो जायगी | फिर हम खाना खा के सोने चले गये | पानी बहुत गिर और रुक ही नही रहा था | आप सब तो जानते हैं कि मुंबई में बारिश कितनी जोरदार होती है | सुबह जब मैं सो कर उठा तो देखा कि वो अभी तक सो ही रहा है | मुझे लगा कि हो सकता है सर्दी क्व्व वजह से नींद लगी होगी | मैं नहा कर बाहर आया तो देखा कि वो अभी तक सो रहा था | मैं जब उसके माथे को टच किया तो वो बहुत ही ज्यादा बुखार में लगा | मैं समझ गया कि इसकी बहुत ज्यादा तबियत खराब है | मैं परेशान हो गया कि यार अब मैं क्या करू | मेरे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था |

मैं तुरंत ही रेडी हो कर मेडिकल शॉप के लिए निकला | जब मैं होटल के बाहर गया तो देखा कि बहुत सारी दुकाने बंद हैं और पूरी सड़क पर कमर तक का पानी भरा हुआ था | सारे लोग परेशान हो रहे थे | मैं अपनी परवाह ना करते हुए मेडिकल शॉप ढूँढने लगा और कई लोगो से पूछने पर पता चला कि बहुत सारी दुकाने पानी की वजह से बंद हैं | मैं और भी ज्यादा परेशान हो गया कि अब क्या करू | तभी मुझे एक मेडिकल शॉप खुली दिखाई दी | मैं जैसे तैसे वहां गया और उससे सर्दी और बुखार की दवा मांगी | जब मुझे दावा मिली तो मैं खुश हो गया कि चलो अब मेरे दोस्त की तबियत में सुधार होगा थोडा तो | मैं दावा ले कर लौट ही रहा था कि मुझे किसी औरत की चिल्लाने कि आवाज आने लगी | वो आवाज ऐसी थी जैसे कोई रेप कर रहा हो उसका | मैं आवाज कि ओर बढ़ने लगा | एक अपार्टमेंट दिखा मुझे जो कि खंडर जैसा दिख रहा था | मैं चला गया उसके अन्दर | तो एक औरत करीब 35 साल की होगी | उसके पैर पर मोच आ गयी थी इसलिए वो कराह रही थी | मैंने उसकी मदद करते हुए उसके रूम तक उसे ले गया | जब मैं उसके रूम को देख रहा था तो उनके रूम में जीसस की फोटो दिखी | मैं समझ गया कि ये क्रिस्टियन है | जब मैं उनको छोड़ कर जाने लगा | तो उन्होंने कहा कि बेटा मेरा पैर दबा के मालिश कर दो | मैंने कहा ठीक हैं आंटी |

फिर मैं आयल ले कर उनके पैर की मालिश करने लगा | जब मैं उनके पैर की मालिश कर रहा था तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | मुझे ऐसा लगा कि शायद वो गरम होने लगी है | मेरा भी लंड खड़ा हो गया था | मैं उनके पैर को अच्छे से 5 मिनट तक मालिश करता रहा | फिर उठ के मैं जाने लगा तो उन्होंने कहा कि बेटा एक काम और कर दो | तो मैं उनके पास तो वो मेरे लंड को जीन्स के ऊपर से ही पकड़ने लगी | तो मैंने कहा कि आंटी ये आप क्या कर रही हैं तो उन्होंने कहा कि बेटा मेरी ये इच्छा भी पूरी कर दे | अब मैं नया जवान लड़का मेरा भी लंड फड़कने लगा | मैं भी तुरंत तैयार हो गया और नंगा हो गया | बहनचोद वो तो तुरंत खड़ी हो गयी | मैंने उनसे कहा कि अरे आंटी आप तो ठीक हो फिर मोच का नाटक क्यूँ कर रहे थे ? तो उसने कहा कि मुझे चुदाई के लिए कोई चाहिए था इसलिए मैं नाटक कर रही थी अब तू मिला तो कैसे छोड़ दू तुझे ? मैंने भी मन में कहा कि बहनचोद जहाँ देखो वहां सब मुझे चोदु बनाते रहते हैं | फिर वो तुरंत झुक कर मेरे लंड को चाटने लगी तो मेरे मुंह से आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्कैर्य निकलने लगी |

loading...

मेरे लंड को चाटने के बाद उसने अपने मुन्ह में डाल लिया और जोर जोर से चूसने लगी | मैं भी मस्त मजे ले कर अपने लंड को चुसवा रहा था और आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कैर्य ले रहा था | वो मेरे लंड को चूसते हुए मेरे सीने के बल को भी सहलाने लगी | मेरे पूरे शरीर में तो सिहरन सी होने लगी थी | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ क्र्टर हुए उसके मुंह को चोदने लगा | फिर उसके बाद उन्होंने अपने कपडे उतारने लगी | भले ही वो औरत थी पर उसका बदन बहुत ही घातक था | अब मैं उसके दूध को पकड के चूसने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | मैं भी उसके दूध को पीते पीते उसके भोसड़े में ऊँगली डाल कर सहलाने लगा | तो वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए जोर जोर से सिस्कारिया लेने लगी | उसके बाद मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और उसके पैरो को फैला कर चाटने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चटवाने लगी | मैं भी उसके भोसड़े को ऊँगली से चोदते हुए चाटने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर को अपने भोसड़े पर दबाने लगी | उसके बाद मैंने उसके भोसड़े में अपना लंड डाला और उसे चोदने लगा | वो भी मदहोश हो चुकी थी तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए चुदाई का मजा ले रही थी |

मैं भी जोर जोर से धक्के लगाते हुए उसके भोसड़े को चोदने लगा स्पीड बढ़ा कर | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपने दूध को मसल रही थी | उसकी चुदाई करने के बाद मैंने उसके भोसड़े पर ही अपना माल झड़ा दिया | फिर मैं दवा लिया और अपने होटल के रूम में गया | जब मैं अन्दर गया तो देखा कि लोडे का बाल पप्पू पेजर मस्त गाना गा गा कर नहा रहा था | जब वो नहा कर निकला तो मैंने उससे पूछा कि तेरी तबियत कैसी है ? तो उसने कहा कि मेरी तबियत तो मस्त है ? फिर मैंने उसके माथे पर हाँथ रखा तो वो एक दम नार्मल था | मैंने उससे पूछा कि अबे जब मैं सुबह तेरे माथे पर हाँथ रखा तब तो बहुत गरम था | अब एक दम से नार्मल कैसे हो गया ? तो उसने बताया कि अबे मैं मुन्ह्चोदी कर रहा हा | रात में मैं प्याज अपने दोनों बगल में फंसा कर सो गया था | ताकि जब तू मुझे चेक करे तो तुझे लगे कि मेरी तबियत बहुत ख़राब है | फिर से मैं चोदु बन गया |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *